मयूराक्षी सिल्क के माध्यम से महिलाएं हो रही है सशक्त: राजेश्वरी बी

दुमका: मयूराक्षी सिल्क के माध्यम से न सिर्फ महिलाओं की आय में वृद्धि हो रही है बल्कि महिलाएं सशक्त भी हुए हैं। समाज, राज्य और देश में मयूराक्षी सिल्क की एक अपनी पहचान है। उक्त बातें जिले की उपायुक्त राजेश्वरी बी ने झारक्राफ्ट के द्वारा आयोजित दो दिवसीय स्थानीय विपणन कार्यशाला के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से झारक्राफ्ट ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है ठीक उसी प्रकार से दुमका के मयूराक्षी सिल्क ने भी बहुत कम समय में एक अलग ब्रांड वैल्यू बनाई है। मयूराक्षी सिल्क से बड़ी संख्या में महिलाएं जुड़ी है और यह महिला सशक्तिकरण का एक बेहतर उदाहरण है। सरकार और जिला प्रशासन उन्हें हुनरमंद बनाकर रोजगार उपलब्ध कराने का कार्य कर रही है।
उन्होंने आगे कहा कि मयूराक्षी सिल्क की मार्केटिंग एक बड़ी चुनौती है। जिला प्रशासन तकनीकी रूप से मयूराक्षी सिल्क को समृद्ध बनाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि मयूराक्षी सिल्क के सभी उत्पाद उच्च कोटि के हैं तथा लगातार इनकी मांग बढ़ रही है। अलग-अलग जगहों से लगातार आपूर्ति के लिए मांग किए जा रहे हैं। कुछ दिनों पहले डोकरा आर्ट के लिए भी प्रशिक्षण दिया गया था तथा मेट्रो सिटी एवं अन्य शहरों में जिस तरह की मांगे हैं उसी अनुरूप उन्हें प्रशिक्षित किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार, जिला प्रशासन एवं संबंधित विभाग मिलकर महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ उनके आय में वृद्धि के लिए कार्य कर रहे हैं।

रिपोर्ट- आलोक रंजन Alok Ranjan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *