खोरठा गीत: कोरोना काले होली

“कोरोना के काल में हो, फाल्गुन महीनवा
कैसे खेलब, कैसे खेलब, होली के पर्व हामिन कैसे खेलब?
सुनो सभी जन हो, हमर एगो बतवा
गोटे देशे, फिर से बढ़ले कोरोना के संक्रमण मामले।
कोरोना के काल में हो फाल्गुन महीनवा
कैसे खेलब,कैसे खेलब, होली के पर्व हामिन कैसे खेलब?
अबकी बारी हो, हामिन कैसे खेलब होली के रंगवा
तन से नहीं, मन से खेलब होलिया
टेलीफोने, मोबाइले पे खेलब होलिया
माॅस्क, सेनेटाइजर, दस्ताना के साथ खेलब सुखी होलिया
कोरोना के काल में हो, फाल्गुन महीनवा
कैसे खेलब,कैसे खेलब,होली के पर्व हामिन कैसे खेलब?
अपन-अपन घरे हो, हामिन खेलब सुखी होली के रंगवा
छाॅकल-तारल पकवान खाइबे हामिन साभी।
कोरोना के काल में हो फाल्गुन महीनवा
कैसे खेलब,कैसे खेलब,होली के पर्व हामिन कैसे खेलब।

कौशल किशोर राय kaushal Kishor Ray
सहायक शिक्षक