योग भारत की प्राचीन परंपरा की अमूल्य निधि है: अमिता रक्षित

दुमका: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मंगलवार को महिला पतंजलि योग समिति के तत्वावधान में शहर के ठाकुर बाड़ी मंदिर परिसर मे योग दिवस का आयोजन किया गया ।

कार्यक्रम के बतौर मुख्य अतिथि झारखंड प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष सह दुमका नगर नगर परिषद् की पूर्व अध्यक्षा अमिता रक्षित एवं वार्ड पार्षद राजकुमारी देवी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए झारखंड प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष श्रीमती रक्षित ने कहा कि योग भारत की प्राचीन परंपरा की अमूल्य निधि है। यह शरीर व मस्तिष्क के बीच एकता स्थापित करने का विज्ञान है। मनुष्य और प्रकृति के बीच जुड़ाव का नाम ही योग है। यह विचार, संगम और नि रोगकता प्रदान करने वाला है। विभिन्न प्रकार की बीमारियों में विभिन्न प्रकार के योगासन किस प्रकार से लाभ पहुंचा रहे हैं, इस पर तीव्र गति से शोध हो रहा है। समाजसेवी सह भाजपा नेत्री श्रीमती रक्षित ने कहा कि देश के जनप्रिय प्रधानमंत्री आदरणीय मोदी जी की पहल और अथक प्रयास से 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता प्रदान की। योग के द्वारा मस्तिष्क को शक्ति मिलती है। योग से प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। योग का नियमित रूप से अभ्यास करने पर विभिन्न बीमारियों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है एवं शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इस दौरान योग दिवस पर महिलाओं ने ताड़ासन, वृक्षासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन, भद्रासन, वज्रासन, वक्रासन, सेतुबंधासन, उत्तानपादासन, पवनमुक्तासन, अनुलोम-विलोम, भ्रमरी एवं कई प्रकार के योग किए गए। योग समिति की वरिष्ठ सदस्य पूनम भगत ने कहा योग करना स्वस्थ जीवन के लिए बहुत ही जरूरी है योग का मतलब है जोड़ना, खुद में ऊर्जा को समाहित करना। शरीर, मन और आत्मा को मजबूत और खूबसूरत बनाना सुबह हो या शाम, रोज कीजिए योग निकट ना आएगा आपके कोई रोग। महिला पतंजलि योग समिति के मीडिया प्रभारी अनुपमा वर्मा ने संबोधित करते हुए कहा योग को नित्य जीवन शैली में अपनाये। योग करे – निरोग रहे। योग शरीर को ही बीमारियों से मुक्त ही नहीं करता योग मानव को मानसिक एवं बौद्धिक स्तर पर सशक्त करता हैं,मानव को शांत और ओजस्वी बनाता है योग। कार्यक्रम में मुख्य रूप से रेखा भगत, बेला भंडारी, झूमा सिन्हा, मीनल कुमारी, कंचन देवी, अर्चना केसरी, सोनी गुप्ता, किरण देवी, दीपा राय, सीमा कुमारी, अंजनी तिवारी, श्रेया पांडे, सोनम कुमारी, विभा रानी, महिला पतंजलि योग समिति की सदस्य एवं शहर की काफी संख्या में महिलाएं एवं बच्चे ने किया योग अंत में शांति पाठ कर कार्यक्रम का समापन किया गया।

रिपोर्ट- आलोक रंजन Alok Ranjan

Leave a Reply

Your email address will not be published.