गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं हो संबंधित पदाधिकारी इसे सुनिश्चित करें: दुमका उपायुक्त

दुमका: जिले के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला की अध्यक्षता में मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले में नीति आयोग के विभिन्न इंडिकेटर पर किये जा रहे कार्यों के अद्यतन स्थिति के संबंध में बैठक की गयी। बैठक में नीति आयोग के विभिन्न इंडिकेटर पर किये जा रहे कार्यों के बारे में रूप से विस्तृत जानकारी प्राप्त की।उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभाग आपस मे समन्वय बनाकर कार्य करें ताकि विभिन्न इंडिकेटर हेतु निर्धारित लक्ष्य को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा, कृषि, बुनियादी आधारभूत संरचना, वित्तीय समावेशन और कौशल विकास के इंडिकेटर पर मिशन मोड पर कार्य करने की जरूरत है, ताकि आकांक्षी जिलों की रैंकिंग में दुमका जिला का प्रदर्शन बेहतर रहे।

उन्होंने कहा कि संस्थागत प्रसव, एएनसी रजिस्ट्रेशन, बालिका विद्यालय में शौचालय सहित अन्य सभी इंडिकेटर जिनमें जिला का प्रदर्शन बेहतर नहीं है उन इंडिकेटर पर विशेष रूप से कार्य करने की जरूरत है। स्वास्थ्य एवं पोषण के विभिन्न इंडिकेटर पर कार्य योजना तैयार कर कार्य किया जाय।

विद्यालय में पेयजल,शौचालय,विधुत की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।उन्होंने कहा कि विद्यालय में विधुत कनेक्शन चालू अवस्था में रहे इसे सुनिश्चित करना आवश्यक है।

उपायुक्त श्री शुक्ला ने कहा कि नीति आयोग द्वारा दी जा रही राशि सरसमय खर्च हो तथा खर्च की गई राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र ससमय जमा किया जाए साथ ही डाटा एंट्री के कार्य मे किसी भी प्रकार की कोई गलती नहीं हो इसे सुनिश्चित करें लगातार डाटा एंट्री की मॉनिटरिंग की जाय।

इस दौरान जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में जिला का प्रदर्शन बेहतर है। उपायुक्त श्री शुक्ला ने कहा कि नीति आयोग द्वारा प्रथम चरण में जिले में जो कार्य किया जाना है, उनमें प्रमुख है.
(1) मोबाइल मेडिकल वैन क्रय किया जाना है।
(2) सरकारी विद्यालयों में साइंस एवं मैथ लैब अधिष्ठापित किया जाना है।
(3) 30 हाई स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम बनाना है। (कार्य प्रारंभ)
(4) आंगनबाड़ी में वाटर फ़िल्टर लगाना है। (आपूर्ति कर दी गयी है)
(5) ट्रेनिंग एंड कैपिसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम कराया जाना है (कार्य पूर्ण हो चुका है)।

आगे उपायुक्त श्री शुक्ला ने कहा कि नीति आयोग द्वारा द्वितीय चरण में जिले में जो कार्य किया जाना है। उनमें प्रमुख है
(1) 8 पहाड़ी गाँव जहां विधुत आपूर्ति नहीं है वहाँ सोलर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई,
(2) सरकारी विद्यालयों में साइंस लैब,
(3) 100 स्मार्ट क्लासरूम (कार्य प्रारंभ),
(4) 50 मॉडल आंगनबाड़ी का निर्माण (कार्य प्रारंभ),

उपायुक्त श्री शुक्ला ने कहा कि स्मार्ट क्लास रूम और लैब में लगाये जाने वाले सामग्री में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं हो संबंधित पदाधिकारी इसे सुनिश्चित करें।

रिपोर्ट- आलोक रंजन Alok Ranjan

Leave a Reply

Your email address will not be published.