दुमका: जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक संपन्न

दुमका: जिले के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला की अध्यक्षता में शनिवार को जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक आयोजित की गई। बैठक में उपायुक्त श्री शुक्ला ने कहा कि वर्ष 2022 में जिले के सभी 10 प्रखण्डों को गंभीर श्रेणी अन्तर्गत चिन्हित करते हुए सूखाग्रस्त घोषित किया गया है। सुखाड़ प्रभावित क्षेत्रों में राज्य आपदा मोचन निधि से सुखाड़ प्रभावित प्रत्येक परिवार को तत्काल अनुग्राहिक राहत / इनपुट राशि प्रदान करने का प्रावधान है। कृषक परिवारों की अहर्ता के अनुसार उन्हें राशि / इनपुट राशि से लाभान्वित किया जाएगा। उपायुक्त श्री शुक्ला ने बताया कि सुखाड़ से प्रभावित वैसे कृषक, जो जीविकोपार्जन हेतु मुख्यतः कृषि पर निर्भर है तथा जिनके द्वारा वर्ष 2022 की खरीफ में बुआई नहीं की गई हो परन्तु पारम्पारिक रूपसे पूर्व में ऐसे कृषक जो बुआई का कार्य करते रहे हो। तथा सुखाड़ से प्रभावित कृषक जो जिविकापार्जन हेतु मुख्यत कृषि पर निर्भर है तथा जिन की फसल 33% से अधिक क्षति हुई हो। तथा भूमिहीन कृषक गजदुर जिनकी कृषि आधारित आजीविका का साधन सुखाड़ से प्रभावित हुआ हो ऐसे कृषकों को वर्तमान में पात्र लाभुको को सुखाड़ से प्रभावित परिवारों को तत्काल राहत हेतु 3,500 /- रूपये अनुग्राहित राहत की राशि देने का निर्णय सरकार के द्वारा लिया गया है।
बैठक में पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा, अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो, जिला आपूर्ति पदाधिकारी संजय कुमार दास, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी अंजना भारती सहित अन्य उपस्थित थे।

रिपोर्ट- आलोक रंजन Alok Ranjan