नेताजी हमारे सर्वकालीन आदर्श: सुबोध झा


“तुम मुझे खून दो मैं तुझे आजादी दूंगा ” का नारा देने वाले महानतम स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चन्द्र बोस को उनके 126वी वर्षगांठ पर पुष्पांजलि समर्पित करते हुए स्थानीय देवघर सेंट्रल स्कूल, देवघर के प्राचार्य सुबोध झा ने नेताजी के जीवन पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए बतलाया कि नेताजी अपने अज्ञातवास के समय मे कुछ समय के लिए छदम वेश में देवघर में भी रहे थे। शायद इतिहास में इसकी जानकारी न हो लेकिन यह सत्य घटना है।

पिंटू कुमार ने नेताजी के आदर्शों पर चल कर ही हम देश भक्ति को आत्मसात कर सकते हैं की जानकारी दी। देश हमारा तो देश के लिए कुछ सकारात्मक कर्तव्य भी हमारा होना चाहिये। आयुष कुमार ने नेताजी के आजाद हिंद फौज के निर्माण को ही अंग्रेजों के भारत छोड़ने का प्रमुख कारण बतलाया। आदित्य ने नेताजी के इंडियन नेशनल कांग्रेस को छोड़ने के कारणों पर चर्चा की कि क्यों गरमदल होना चाहिए इसपर भी प्रकाश डाला। शिवम कुमार ने रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद का प्रभाव नेताजी पर बहुत गहरा था को बतलाया। नेताजी के जन्मदिवस को हम ” पराक्रम दिवस” के रूप में मनाते हैं। क्योंकि नेताजी ने सर्वप्रथम हमारे देश को आजाद घोषित किया था और उसकी अपनी आर्मी, अपनी सरकार को गठित किया था।

प्रिंस राज ने नेताजी के मृत्यु को एक रहस्य बतलाया और कहा कि उनके मौत के सटीक कारणों पर से आज तक पर्दा नहीं उठ सका।मिस्टी खातून ने नेताजी को याद करते हुए कहा कि नेताजी के विचारों को हमे अपने जीवन में उतारना होगा तभी हम उनको सच्ची श्रद्धांजलि दे पाने की स्थिति में होंगें। कार्यक्रम को पलक प्रिया, मेहुल, स्वेता, प्रज्ञा दुबे व अन्य छात्र छात्राओं ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर ज्योतिष कुमार झा, सौरभ कुमार, व अन्य शिक्षकों ने भी नेताजी को श्रद्धासुमनसमर्पित किया। कार्यक्रम का संचालन सुकांतो सरकार ने किया।